कोरोना का संक्रमण पुनः आ रहा, इसके लिए पूरे प्रदेश में एक जैसी सावधानी बरतने की आवश्यकता - नवनीत सहगल 


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 6 नवंबर। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि देश के अन्य प्रदेशों में कोरोना का संक्रमण पुनः आ रहा है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण न बढ़े इसके लिए पूरे प्रदेश में एक जैसी  सावधानी बरतने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने अपील कि है कि संक्रमण को रोकने के लिए सावधानी एवं सर्तकता के साथ कोविड-19 के गाइडलाइन मास्क का प्रयोग, बार-बार हाथ धोने तथा सोशल डिस्टेसिंग को अनुपालन अवश्य करे। उन्होंने बताया कि हाॅटस्पाॅट में 8469 एरिया है तथा कन्टेनमेंट में 8769 जोन है। उन्होंने बताया कि देश तथा विदेश के अन्य हिस्सों से निवेश आमंत्रित करने का विशेष प्रयास हो रहा है। इसी प्रयास के अन्तर्गत ‘‘इन्वेस्ट यू0पी0‘‘ एक नया संगठन बनाया गया है। ‘‘इन्वेस्ट यू0पी0‘‘ प्रदेश में निवेश आमंत्रित करने के लिए विशेष प्रयास कर रहा है। इसी क्रम में जर्मन कम्पनी जो जूतों का उत्पादन, चीन में किया करती थी ने आगरा में उत्पादन प्रारम्भ किया है। विदेश एवं देश के अन्य निवेशकों के साथ ‘‘इन्वेस्ट यू0पी0‘‘ और सरकार के सभी विभागों की वार्ता लगातार चल रही है। विश्व के 10 देशों में भारतीय दूतावासों के माध्यम से सम्पर्क किया गया है। प्रदेश में औद्योगिक नीति तथा कई अन्य नीतियों में बदलाव कर निवेशोनमुख बनाया गया। निवेश की नयी औद्योगिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ाने की बहुत अधिक सम्भावनायें बनी है। उसी क्रम में नया निवेश भी प्रदेश में आ रहा है।
       श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयास कर रही है। रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश देश के प्रथम पांच प्रदेशों में है, जहां कोरोना के समय में सबसे अधिक रोजगार सृजन किया। प्रदेश सरकार द्वारा बैंकों के माध्यम से तीन आॅनलाइन मेले आयोजित कराये गये थे। जिनमें ऋण वितरण का कार्यक्रम किया गया था। शीघ्र ही एक और ऋण वितरण शिविर कार्यक्रम किया जायेगा। जिसमें स्वरोजगार से संबधित सभी योजनाओं के लाभार्थियों को वर्चुअल ऋण वितरण किये जायेगें। प्रदेश में अद्यतन 4.36 लाख इकाईयों को आत्मनिर्भर पैकेज के अन्तर्गत रू0 10,768 करोड के ऋण स्वीेकृत कर वितरित किये जा रहे हैं। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार/स्वरोजगार सृजन अभियान में इस वित्तीय वर्ष में 14 मई से आजतक लगभग 5.83 लाख नई डैडम् इकाईयों को रू0 15,567 करोड रूपये के ऋण वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि इन इकाईयों के माध्यम से 25 लाख रोजगार सृजन हुआ है।
श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है। इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले। धान और मक्का की खरीद का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की अधिकारियो/कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी। धान क्रय केन्द्रांे पर जिलाधिकारी द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे। गत दिवस 5.77 लाख कुन्तल धान की खरीद की गयी है। अब तक किसानों से 71.49 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है। गत दिवस 13.40 मी0 टन मक्का की खरीद की गयी है। अब तक किसानों से 35.52 मी0 टन मक्का की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि किसानों को जागरूक किया जाए कि वह पराली न जलाए, जागरूकता कार्यक्रम किया जाए और उनको बताया जाए कि पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता है इसलिए किसानों को बताए कि वह पराली न जलाए। उन्होंने कहा है कि किसानों के साथ किसी भी प्रकार का दुव्र्यहार न किया जाए।
      प्रदेश के प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अलोक कुमार ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,53,043 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,57,62,343 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2173 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 23132 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि आज आर0टी0पी0सी0आर0 सरकारी लैब से 59,406 तथा आर0टी0पी0सी0आर0 निजी लैब से 2292 कोविड-19 की टेस्टिंग की गयी है। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से कल 2891 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 1,90,304 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया।- इंजेश सिंह/धर्मवीर खरे


Popular posts
राज्यमंत्री बलदेव सिंह ने मुख्य अभियंता शारदा सहायक व मुख्य अभियंता सज्जा के कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया
Image
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ज्योति पर्व ‘‘दीपावली’’ पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी 
Image
प्रशासक ग्रेटर शारदा सहायक समादेश क्षेत्र विकास प्राधिकारी/परियोजना के मौजूदा नम्बर बदले गए 
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
डीजीपी ने महिलाओं/बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए अभियान ‘‘मिशन शक्ति‘‘ हेतु निर्देश जारी किये 
Image