तमाम रसाकसी के बाद अन्ततोगत्वा राहुल प्रियंका को हाथरस जाने कि अनुमति मिली 


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 3 अक्टूबर। हाथरस की दलित बेटी को न्याय दिलाने व पीड़ित परिजनों से मिलने जा रहे पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, श्रीमती प्रियंका गांधी, कांग्रेस सांसदों व वरिष्ठ नेताओं सहित हजारों की संख्या में कंाग्रेस कार्यकर्ताओं को डीएनडी टोल प्लाजा पर रोकने व व्यापक जनसमूह द्वारा दबाव बनाये जाने से प्रदेश की योगी सरकार को अन्ततोगत्वा झुकना पड़ा और राहुल गांधी, श्रीमती प्रियंका गांधी सहित पांच नेताओं को हाथरस जाने व पीड़ित परिवार से मिलने की अनुमति प्रदान करनी पड़ी।
      कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके प्रदेश सरकार को चेताते हुए कहा कि - दुनिया की कोई ताकत मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती। वहीं कांग्रेस महासचिव एवं यूपी प्रभारी श्रीमती प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार से मिलने से पहले अपने ट्वीट हैंडिल पर लिखा कि - यूपी सरकार नैतिक रूप से भ्रष्ट है पीड़ित को इलाज नहीं मिला, समय पर शिकायत नहीं लिखी, शव को जबर्दस्ती जलाया, परिवार कैद में है, उन्हें दबाया जा रहा है-अब उन्हें धमकी दी जा रही है कि नार्को टेस्ट होगा। ये व्यवहार देश को मंजूर नहीं। पीड़िता के परिवार को धमकाना बन्द कीजिए। 
      उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी ने कल देर रात प्रदेश अध्यक्ष की घर पर योगी सरकार द्वारा किये गये असंवैधानिक नजरबंदी की घोर भत्र्सना की है और योगी आदित्यनाथ पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि उ0प्र0 में लोकतंत्र और संवैधानिक प्रक्रियाओं की की खुलेआम हत्या हो रही है। आज दलितों, पिछड़ों और मुसलमानों सहित सभी वर्गों की आवाजों को योगीराज में दबाया जा रहा है, उनका उत्पीड़न हो रहा है। उनके ऊपर बर्बर लाठीचार्ज करके गिरफ्तार किया जा रहा है। उन्होने कहा कि उ0प्र0 में दलित बिटिया के साथ गैंगरेप और हत्या की घटना ने मानवता को शर्मसार किया है। पर योगी सरकार अभी भी लोगों के दुःख, दर्द को सुनने को तैयार नहीं है। यह योगी सरकार की असंवेदनशीलता की पराकाष्ठा है। योगी सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक आधार नहीं है।
     प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पूछा है कि आखिर कब तक योगी सरकार उ0प्र0 में हो रहे बलात्कार और बढ़ते अपराधों पर असंवेदनशील बनी रहेगी। उन्होने कहा कि हाथरस की घटना पर मुख्यमंत्री आवास घेरने जा रहे लोगों पर बर्बर लाठीचार्ज और गिरफ्तारियां की जाती हैं। क्या दलित बेटी के लिए न्याय मांगना अपराध है। क्या अपनी बहन, बेटियों के लिए न्याय मांगना इस प्रदेश में अपराध की श्रेणी में आता है। उन्होने आगे कहा कि योगी सरकार ने मानवता को शर्मसार किया है तत्काल इस्तीफा दें।  


Popular posts
प्रशासक ग्रेटर शारदा सहायक समादेश क्षेत्र विकास प्राधिकारी/परियोजना के मौजूदा नम्बर बदले गए 
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
राज्यमंत्री बलदेव सिंह ने मुख्य अभियंता शारदा सहायक व मुख्य अभियंता सज्जा के कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया
Image
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ज्योति पर्व ‘‘दीपावली’’ पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी 
Image
डीजीपी ने महिलाओं/बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए अभियान ‘‘मिशन शक्ति‘‘ हेतु निर्देश जारी किये 
Image