एसटीएफ : दिन दहाड़े हुए हत्याकाण्ड में वांछित कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

वेब वार्ता (न्यूज़ एजेंसी) अजय कुमार वर्मा
 लखनऊ 18 अक्टूबर। आज दिनांक 18-10-2020 को एस0टी0एफ0, उ0प्र0 को जनपद बलिया में दिनांक 15-10-2020 को गाँव के कोटे को आवंटन को लेकर दिन दहाड़े हुए हत्याकाण्ड में पंजीकृत मु0अ0सं0 273/2020 धारा 147/148/149/302/323/504/506 भादवि व 7 सीएलए एक्ट में वाँछित व रू0 50,000/-के पुरस्कार घोषित कुख्यात अपराधी धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ डब्बू सिंह को गिरफ्तार करने में उल्लेखऩीय सफलता प्राप्त हुई।
गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः-
धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ डब्बू सिंह पुत्र वीरेन्द्र प्रताप सिंह निवासी दुर्जनपुर, थाना रेवती, जनपद बलिया।
बरामदगीः-
01-रू0 1000/- नगद
02-आधार कार्ड एक अदद।
गिरफ्तारी का स्थान व दिनांकः-
सहारा ट्रेड सेण्टर के सामने, पालीटेक्निक चैराहे के पास, थाना गाजीपुर, लखनऊ। दिनांक 18-10-2020 समय 11ः40 ।


        एस0टी0एफ0 उ0प्र0 को विगत काफी दिनों से कुख्यात फरार/पुरस्कार घोषित अपराधियों के सक्रिय होकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिये जाने की सूचनायें प्राप्त हो रहीं थी। इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 की विभिन्न इकाईयों/टीमों को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में एसटीएफ मुख्यालय, लखनऊ द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।
        उक्त के क्रम में निरीक्षक प्रमोद कुमार वर्मा के नेतृत्व में उपनिरीक्षक सत्य प्रकाश सिंह, आरक्षी राजीव सिंह, आरक्षी सुनील राय की एक टीम धरातलीय अभिसूचना संकलन हेतु सक्रिय थी कि आज दिनांक 18-10-2020 को विश्वस्त सूत्रों के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि दिनांक 15-10-2020 को थाना रेवती जनपद बलिया में गाँव में राशन के कोटे को लेकर दिन दहाड़े हुई हत्या में थाना रेवती, जनपद बलिया में पंजीकृत मु0अ0सं0 273/2020 धारा 147/148/149/302/323/504/506 भादवि व 7 सीएलए एक्ट में वांछित धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ डब्बू सिंह, जिसपर रू0 50,000/- का पुरस्कार घोषित है, वह आज पालीटेक्निक चैराहे के पास किसी साथी से मिलने के लिये आया है और खड़ा है, यदि शीघ्रता की जाये तो पकड़ा जा सकता है। इस सूचना पर एस0टी0एफ0 टीम मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर अपराधी धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ डब्बू सिंह को आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया, जिससे उपरोक्त बरामदगी हुई।
       गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि दिनांक 15-10-2020 को गाँव में राशन की दुकान को लेकर के 2000 आदमी दोनों पक्षों से इकट्ठा हुए थे। एक पक्ष इनका था तथा दुसरा कृष्ण कुमार यादव व उनके घर के लोगों का था। प्रशासन के लोग भी वहाँ मौजूद थे। कोटे के आवंटन को लेकर पंचायत के सामने कृष्ण कुमार यादव व उनके साथियों के साथ कहा सुनी हो गयी। इसी बीच विपक्षियों द्वारा गोली चला दी गयी, जिसमें उसका भतीजा गोलू सिंह व घर की 5-6 औरते घायल हो गयीं। गोलू सिंह की बाद में मृत्यु हो गयी। जवाब में इन लोगों द्वारा फायर किया गया, जिसमें जय प्रकाश पाल उर्फ गामा पाल जो कृष्ण कुमार यादव का आदमी था, मर गया। इस सम्बन्ध में उसके व उसके भाई नरेन्द्र प्रताप सिंह, देवेन्द्र प्रताप सिंह व उसके साथी संतोष यादव, अमरजीत यादव व उसके रिश्तेदार प्रयाग सिंह, प्रभात सिंह के विरूद्ध थाना रेवती, जनपद बलिया में मु0अ0सं0 273/2020 धारा 147/148/149/302/323/504/506 भादवि व 7 सीएलए एक्ट का पंजीकृत हुआ, जिसमंें उसके ऊपर रू0 50,000/- का पुरस्कार घोषित किया गया है। इस मुकदमें में वाँछित नरेन्द्र सिंह, देवेन्द्र सिंह, संतोष यादव व अमरजीत की गिरफ्तारी पूर्व में हो चुकी है। प्रयाग सिंह व प्रभात सिंह के बारे में उसे कुछ पता नही है कि वे कहां है। आज किसी काम से लखनऊ आया था कि आप लोगों द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।
      गिरफ्तार अभियुक्त धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ डब्बू सिंह को थाना गाजीपुर, लखनऊ में इन्द्राज करके अग्रिम विधिक कार्यवाही हेतु जनपद बलिया ले जाया जा रहा है।   


Popular posts
राज्यमंत्री बलदेव सिंह ने मुख्य अभियंता शारदा सहायक व मुख्य अभियंता सज्जा के कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया
Image
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ज्योति पर्व ‘‘दीपावली’’ पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी 
Image
प्रशासक ग्रेटर शारदा सहायक समादेश क्षेत्र विकास प्राधिकारी/परियोजना के मौजूदा नम्बर बदले गए 
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
डीजीपी ने महिलाओं/बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए अभियान ‘‘मिशन शक्ति‘‘ हेतु निर्देश जारी किये 
Image