राज्य सरकार सभी कोविड मरीजों को बेहतर उपचार कराने के लिए कृतसंकल्पित - अवनीश अवस्थी


वेब वार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार
लखनऊ  24 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य सरकार सभी कोविड मरीजों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित है। इसके दृष्टिगत कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीजों को प्रत्येक दशा में गुणवत्तायुक्त इलाज की सुविधा मिले। कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा है कि यह बढ़ोत्तरी इस प्रकार की जाए, जिससे सरप्लस बेड्स का प्रबन्ध हो सके। उन्होंने कहा है कि बेड्स की संख्या में वृद्धि के साथ-साथ इसके लिए सभी आवश्यक मेडिकल उपकरणों एवं मानव संसाधन की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमत्रंी जी ने नाॅन कोविड चिकित्सालयों पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये है।
     श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए है कि सभी जनपदों में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेण्टर पूरी सक्रियता से कार्य करें। उन्होंने कहा है कि होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड मरीजों से इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेण्टर के माध्यम से नियमित संवाद बनाकर उनके स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी प्राप्त की जाए। ‘108’ तथा ए0एल0एस0 एम्बुलेंस सेवाओं के वाहनों को पूरी तरह सक्रिय रखा जाए। उन्होंने जनपद लखनऊ तथा कानपुर नगर में विशेष ध्यान देने के निर्देश देते हुए कहा कि इन जिलों में चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिल रही है। इसके दृष्टिगत अधिक से अधिक काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग पर बल देते हुए उन्होंने कहा है कि यह कार्य अत्यन्त सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न किया जाए। उन्होंने डोर-टू-डोर सर्वे कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा है कि इस सम्बन्ध में आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टीमों का गठन किया जाए। उन्होंने डोर-टू-डोर सर्वे करने वाले टीम्स के लिए लक्ष्य निर्धारित करते हुए कार्य की प्रभावी माॅनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक किसान को उसकी जरूरत के अनुसार समय से खाद प्राप्त हो। खाद की कालाबाजारी कर किसानों के हितों से खिलवाड़ करने वाले लोगों के खिलाफ प्रदेश सरकार सख्ती से पेश आएगी। उन्होंने कहा है कि खाद की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध एन0एस0ए0 के अन्तर्गत भी कार्यवाही करें। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रदेश में निवेश वृद्धि के लिए निवेशकों से लगातार संवाद बनाए रखा जाए। निवेशकों की समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा है कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में अतिवृष्टि से कई क्षेत्रों में बरसात का पानी एकत्र हो जाने से लोगों को असुविधा होती है। इस समस्या के समाधान के लिए ऐसा सिस्टम विकसित किया जाए, जिससे जलभराव न हो सके। उन्होंने इस सम्बन्ध में एक कार्ययोजना बनाकर उसे क्रियान्वित करने के निर्देश दिए हैं।
     श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश सरकार कोविड केयर के साथ-साथ संक्रामक बिमारियों के निरंतर एवं रोकथाम के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को और अधिक तेजी प्रदान करते हुए संचालित किया गया। एंटी लार्वा छिड़काव, सैनेटाइजेशन एवं फाॅगिंग के कारण वैक्टर जनित रोगों मे पिछले वर्ष के तुलना में कमी है। कोविड-19 तथा संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए वर्तमान में ग्रामीण एवं शहरी इलाकों में विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान संचालित किया जा रहा है। जिससे वेक्टर जनित रोगों के नियंत्रया में गत वर्ष की तुलना में अच्छी सफलता मिली है। इस वर्ष भी गत वर्ष की भांति दो चरणों मंे एक माह का संचारी रोग नियंत्रण एवं 15 दिवसों का दस्तक अभियान सम्पादित किया गया है। उन्हांेने बातया कि आकंडों के अनुसार गत वर्ष 20 अगस्त तक की तुलना में इस वर्ष इसी अवधि में ए0ई0एस0, जापानी इन्सेफ्लाइटिस, डेंगू के पुष्ट रोगियों एवं मृत्यु में कमी आयी है। इसी के साथ मलेरिया, कालाजार के रोगियों में भी कमी आयी है।


रोग                          20 अगस्त, 2019    20 अगस्त, 2020
कुल रोगी                    मृत्यु     कुल          रोगी         मृत्यु
ए0ई0एस0                  816      34            396        12
जापानी इन्सेफ्लाइटिस    50        4             19           2
मलेरिया                       15,      101             0 468    7 0
डेंगू                             13        5 2             32           0


उन्होंने बताया कि इस वर्ष स्वच्छता के लिए प्रदेश को विभिन्न क्षेत्रों में भारत सरकार के 19 स्वच्छता पुरस्कार प्राप्त हुये है।
       श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में 01 जनवरी, से 31 मई, 2020 के मध्य 53 प्रकरणों में 66 लोगों के ऊपर रासुका लगायी गयी है। जून, 2020 से अब तक 45 प्रकरणों में 59 लोगों के ऊपर रासुका लगायी गयी है। इसके अतिरिक्त 25 जून से 22 अगस्त, 2020 के मध्य 396 गैंगचार्ट जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदित किये गये है अब तक कुल 2,637 गैंगचार्ट जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदित किये जा चुके है। गैंगस्टर वादों में 25 जून से 22 अगस्त, 2020 के मध्य 15,13,07,829 रूपये की सम्पत्ति कुर्क की गयी, जबकि अब तक कुल 1,26,53,01,316 रूपये की सम्पत्ति की कुर्की की जा चुकी है। धारा 107/216 के अन्तर्गत 1,83,678 वादों में 6,82,591 लोगों को पाबंद किया गया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 2,00,817 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 1,33,04,737 वाहनांे की सघन चेकिंग में 69,278 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 67,76,20,089 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,32,336 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1102 लोगों के खिलाफ 817 एफआईआर दर्ज करते हुए 391 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फेक न्यूज के अन्तर्गत अब तक 2332 मामलों में संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है। प्रदेश के 14,642 कन्टेनमेंट जोन के 1184 थानान्तर्गत 13,62,042 मकानों के 79,27,280 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 37,668 है। उन्होंने बताया कि कल उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की 5726 बसों के माध्यम से 6.26 लाख लोगों ने यात्रा की।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक 1,21,553 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक 46,74,620 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 4677 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अगस्त माह में कोरोना मरीजों की पाॅजीटिविटी की दर 4.8 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 49,288 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 24,482 मरीज होम आइसोलेशन, 2134 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 269 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। उन्होंने बताया कि अब तक 77,608 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया, जिनमें से 53,126 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में अब तक 1,40,107 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में रिकवरी दर 72.82 प्रतिशत है।
               श्री प्रसाद ने बताया कि अब तक प्रदेश में 62,744 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 6.75 लाख से अधिक लक्षणात्मक लोग चिन्हित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप पर अलर्ट जनरेट होने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा फोन कर अब तक 9,98,770 लाख लोगों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि डब्लू0एच0ओ0 के मानक के अनुसार प्रति लाख जनसंख्या पर 14 टेस्ट प्रतिदिन किये जाने चाहिए, जिसके आधार पर प्रदेश की जनसंख्या के अनुसार 32 हजार टेस्ट प्रतिदिन बनते हैं। उन्होंने बताया कि निर्धारित मानक से चार गुणा टेस्ट प्रदेश में प्रतिदिन किये जा रहे है। इसी प्रकार पाजिटिविटी दर 05 प्रतिशत से कम के मानक को बनाये रखने में प्रदेश निरन्तर सफल रहा है। उन्होंने बताया कि 01-23 अगस्त के मध्य उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों का पाजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत है।- अमित कुमार शुक्ला/ जयेन्द्र सिंह


Popular posts
प्रियंका ने वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा ग्राम विकास अधिकारी और दारोगा भर्ती के अभ्यर्थियों से बातचीत की
Image
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
गन्ना किसान फोन पर ही अपनी शिकायत दर्ज कराकर उसका समाधान पा सकेंगे - आयुक्त, संजय आर0 भूसरेड्डी
शारदीय नवरात्र पर नारी सुरक्षा एवं स्वावलम्बन हेतु विविध कार्यक्रमों का आयोजन प्रस्तावित - डाॅ0 दिनेश शर्मा
तालेत्तुताई सोलर प्रोजेक्ट फाइव प्रा0 लि0 को ग्राम खेड़ा एवं शहजादनगर तहसील बिल्सी, जनपद बदायूँ में 12.50 एकड़ से अधिक भूमि क्रय