कहानी मेजर शैतान सिंह की, जिन्होंने चीन का हौसला तोड़ा था


हिंदी में सुनिए मेजर शैतान सिंह की जीवनी। 13 कुमाऊं रेजिमेंट की C बटालियन के जवान, जिन्होंने 18 नवंबर 1962 को चीनी सेना के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। लद्दाख के चुशुल गांव में रेजांग ला पर अदम्य साहस का परिचय देते हुए शहीद हुए मेजर शैतान सिंह को मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया था। जानें रेजांग पास में क्या हुआ था, जहां 124 भारतीय सैनिक 3000 चीनी सैनिकों के खिलाफ लड़े थे।






 



Popular posts
राज्यमंत्री बलदेव सिंह ने मुख्य अभियंता शारदा सहायक व मुख्य अभियंता सज्जा के कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया
Image
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ज्योति पर्व ‘‘दीपावली’’ पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी 
Image
प्रशासक ग्रेटर शारदा सहायक समादेश क्षेत्र विकास प्राधिकारी/परियोजना के मौजूदा नम्बर बदले गए 
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
डीजीपी ने महिलाओं/बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए अभियान ‘‘मिशन शक्ति‘‘ हेतु निर्देश जारी किये 
Image