मुलायम-अखिलेश की अनुपातहीन संपत्ति मामले की जांच 2013 में बंद : सीबीआई
नई दिल्ली। अनुपातहीन संपत्ति मामले में मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की जांच का केस 2013 में बंद हो चुका है। दरअसल एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने यादव के खिलाफ अनुपातहीन संपत्ति की जांच को लेकर याचिका लगाई। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने सीबीआई से इस मामले में चार हफ्तों में जवाब मांगा है। 

यादव ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस कार्यकर्ता पर आरोप लगाया था कि एक पुराने मामले में उन्हें और अनके परिवार को आरोपी बनाकर चुनाव के दौरान छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। यादव ने 25 मार्च को जारी हुए नोटिस के जवाब में दिए गए हलफनामे में कहा, कांग्रेस कार्यकर्ता विश्वनाथ चतुर्वेदी ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान राजनीतिक लाभ की दृष्टि से यह याचिका दाखिल की है। चतुर्वेदी की मांग है कि सीबीआई मुलायम और उनके दोनों बेटों अखिलेश-प्रतीक के खिलाफ की गई जांच की रिपोर्ट शीर्ष अदालत या मजिस्ट्रियल कोर्ट के सामने रखे। 

Popular posts
प्रियंका ने वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा ग्राम विकास अधिकारी और दारोगा भर्ती के अभ्यर्थियों से बातचीत की
Image
राज्यपाल ने प्रगति इंडस्ट्रीज, इंडस्ट्रीयल स्टेट स्थित कांच की फैक्ट्री का निरीक्षण किया
Image
गन्ना किसान फोन पर ही अपनी शिकायत दर्ज कराकर उसका समाधान पा सकेंगे - आयुक्त, संजय आर0 भूसरेड्डी
शारदीय नवरात्र पर नारी सुरक्षा एवं स्वावलम्बन हेतु विविध कार्यक्रमों का आयोजन प्रस्तावित - डाॅ0 दिनेश शर्मा
तालेत्तुताई सोलर प्रोजेक्ट फाइव प्रा0 लि0 को ग्राम खेड़ा एवं शहजादनगर तहसील बिल्सी, जनपद बदायूँ में 12.50 एकड़ से अधिक भूमि क्रय