प्रयागराज में छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना के दोषियों की शीघ्र गिरफ़्तारी हो : कांग्रेस 
लखनऊ (वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा)। प्रदेश में अराजकता, गुण्डाराज और महिलाओं के साथ अत्याचार, बलात्कार की घटनाएं चरम पर हैं। नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के अनुसार उत्तर प्रदेश बलात्कार की घटनाओं में प्रथम स्थान पर पहुंच गया है। आस्था की नगरी प्रयागराज में जहां पवित्र कुम्भ चल रहा है वहां बी.ए.एम.एस. की छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना ने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है। वहीं प्रदेश सरकार इतनी जघन्य घटना के बावजूद आंख मूंदे बैठी है। पीड़िता के परिजन जब मुकदमा दर्ज कराने थाने पहुंचे तो थाने पर मौजूद सब इंस्पेक्टर ने एफआईआर दर्ज करने के बजाय पीड़िता के परिजनों को धमकाया। स्थानीय लोगों के आक्रोश एवं जनदबाव के चलते एफआईआर दर्ज को सकी है। पीड़िता अभी भी प्रयागराज के स्थानीय अस्पताल में जीवन-मृत्यु से संघर्ष कर रही है जबकि प्रशासन की ओर से पीड़िता के परिजनों को कोई भी आश्वासन अथवा सहयोग नहीं मिल रहा है। बलात्कार की घटना में शामिल अपराधी अभी तक पुलिस की पहुंच से बाहर हैं। उक्त बाते उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डाॅ0 अनूप पटेल ने कहा।

डाॅ0 अनूप ने कहा कि उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी सरकार से मांग करती है कि सामूहिक बलात्कार में शामिल दोषियों को तत्काल गिरफ्तार कर सख्त से सख्त सजा दी जाय। साथ ही पीड़िता को एक करोड़ रूपये आर्थिक मुआवजा, सरकारी नौकरी और पीड़िता के परिवार को तत्काल समुचित सुरक्षा प्रदान की जाय एवं एफआईआर दर्ज करने में हीलाहवाली करने वाले स्थानीय थाने के सबइंस्पेक्टर को तत्काल बर्खास्त किया जाय, वरना कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतरकर संघर्ष करने के लिए बाध्य होगी।