महिलाओं के लिए नजीर है चेयरमैन संगीता
 

(वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा) 

संत कबीर नगर। पंचायत मगहर की चेयरमैन संगीता वर्मा लोगों के लिए नजीर है। जिन्होंने अपनी प्रतिभा के बदौलत अल्प समय में बुलंदियों पर पहुंच गई है। जिनकी तरक्की कुछ लोगों को राश नही आ रही है। शायद इसलिए अन्तराट्रीय महिला दिवस पर उनका सामान करने के बजाए लोग उन्हें अपमानित कर रहें हैं। इससे वह आहत है लेकिन इसका जवाब सोसल मीडिया पर देने के बजाय समाज में कुछ करने में विश्वास है।।

      नगर पंचायत मगहर की चेयरमैन संगीता वर्मा सामान्य परिवार में जन्मी है। इनके पति राजेश उर्फ गुड्डू वर्मा को समाज सेवा के साथ ही राजनीत में काफी दिलचस्पी थी। जिनके साथ रहते रहते और उनके साथ गरीबों की सेवा करते देख उनके अन्दर राजनीत की दिलचस्पी पैदा हुई। जिन्होने पहली बार 2012 के नगर निकाय चुनाव में सभासद का चुनाव लङा। इस चुनाव में न केवल वह विजयी रही बल्कि सभासद की हैट्रिक लगाने की दहलीज पर खङे राजनीत के धुरंधर को मात दी। इसके बाद पार्टी में उनका कद बढा और उन्हें महिला मोर्चा का जिलाध्यक्ष बनाया। जिसके बाद उनके अन्दर ऊर्जा का संचार हुआ। इस कार्य को बखूबी निभाया और इसका परिणाम पार्टी ने उन्हें दिया अौर 2017 के निकाय चुनाव में नगर पंचायत मगहर से चेयरमैन का टिकट दे दिया। पार्टी के झ्स +विश्वास को जिंदा रखते हुए राजनीति के धुरंधरों को मात देकर मगहर की चेयरमैन बन बैठी। यही बात लोगों को शायद हजम नही हो रही है कि एक समान्य महिला इतने बङे पद की मालकिन बन बैठी? यही कारण है कि सोशल मीडिया में  अन्तराट्रीय महिला दिवस पर उनका सामान करने के बजाए लोग उन्हें अपमानित कर रहें हैं। इसे लेकर वह आहत तो है लेकिन विचलित नही है। जिसका जवाब वह सीधे न देकर अपने कर्मो  से देने में विश्वास जता रही है।