‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ नारा भी भाजपा का जुमला साबित हुआ : ममता चौधरी 
 

 

(वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा)

लखनऊ। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज यहां प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर उ0प्र0 महिला कांग्रेस मध्य जोन की अध्यक्ष ममता चौधरी एवं राष्ट्रीय सहप्रभारी महिला कांग्रेस विद्या नेगी की उपस्थिति में बैठक आहूत की गयी। इस बैठक में आने वाले लेाकसभा चुनाव में श्रीमती विद्या नेगी ने महिलाओं की सहभागिता किस प्रकार होगी उस पर चर्चा की और अपने दिशा-निर्देश दिये। उन्होने कहा कि महिला आरक्षण बिल पास कराने वाला आज सत्ता में है लेकिन उन्होने जुमलों के अलावा कोई सार्थक प्रयास महिला सशक्तीकरण के लिए नहीं किया। जिस प्रकार से हत्या एवं बलात्कार की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं उससे ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ जैसा नारा मात्र एक जुमला साबित हुआ है। 

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ओंकार नाथ सिंह ने जारी बयान में कहा कि महिला दिवस के मौके पर श्रीमती ममता चैधरी ने कहा कि जिस विधवा शब्द कहकर महिला का प्रधानमंत्री जी मजाक उड़ाते हैं महिला कांग्रेस ने विधवाओं का सम्मान करके संदेश दिया कि महिला अपने आप में शक्ति है जिसका मनोबल कोई बयान तोड़ नहीं सकता। महिलाएं आज गांव से लेकर चांद तक पहंुच चुकी है।

कार्यक्रम में श्रीमती आरती बाजपेयी, श्रीमती अंजुम खान, श्रीमती शीला मिश्रा, श्रीमती लक्ष्मी वर्मा, सुश्री शालिनी, श्रीमती प्रेमकला द्विवेदी, श्रीमती मीना रावत, श्रीमती ममता सक्सेना, श्रीमती पल्लवी उपाध्याय, श्रीमती सुमन प्रजापति, श्रीमती प्रेमकला श्रीवास्तव, श्रीमती गजाला सिद्दीकी, श्रीमती अनीता थरानिया, श्रीमती आयशा खान, श्रीमती राम कुमारी, श्रीमती सुमन अग्रवाल आदि महिलाएं उपस्थित रहीं।