एक दिवसीय मण्डलीय कार्यशाला सम्पन्न
लखनऊः- 30 जनवरी 2019,     संयुक्त विकास आयुक्त लखनऊ मण्डल लखनऊ श्री रमेश चन्द्र पाण्डेय की अध्यक्षता में राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम आई0ई0सी0/एच0आर0डी0 गतिविधियों के अन्तर्गत समुदाय आधारित पाइप पेयजल योजनाओं के संचालन अनुरक्षण एवं जागरूकता विषयक एक दिवसीय मण्डलीय कार्यशाला का क्षेत्रीय ग्राम विकास संस्थान सभागार बक्शी का तलाब में द्वीप प्रज्जवलन कर शुभारम्भ किया गया। 

     संयुक्त विकास आयुक्त ने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग उत्तर प्रदेश के निर्देशानुसार समुदाय आधारित पाइप पेयजल योजनाओं के संचालन एवं अनुरक्षण तथा व्यापक प्रचार प्रसार हेतु मण्डल स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में अनुरक्षणाधीन/निर्माणाधीन पेयजल योजनाओं के माध्यम से सम्बन्धित ग्राम पंचायतों में निवास करने वाले प्रत्येक परिवार को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना शासन की प्राथमिकता है। 

     उन्होंने बताया कि उपरोक्त के क्रम में प्रदेश के सभी 18 मण्डल मुख्यालयों पर प्रस्तावित तिथियों के अनुसार एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाना प्रस्तावित किया गया है। जिसमें प्रत्येक स्तर पर पाइप पेयजल योजनाओं को समुदाय आधारित संचालन एवं अनुरक्षण गतिविधियों को प्राथमिकता प्रदान करते हुए सम्बन्धित सभी जिला स्तरीय अधिकारियों के मध्य समन्वय स्थापित कराते हुए प्रत्येक स्तर पर गतिविधियों के सम्बन्ध में जागरूकता  विकसित करते हुए जवाब देही तय किया जाना है। 

     कार्यशाला में मास्टर ट्रेनरों द्वारा उपस्थित लोगों को पाइप पेयजल योजना के संचालन एवं अनुरक्षण से सम्बन्धित सभी बिन्दुओं पर जानकारी प्रदान की गयी तथा जल निगम से ग्राम पंचायत में पेयजल योजना को हस्तान्तरित करते समय सम्बन्धित बिन्दुओं की भी जानकारी प्रदान की गयी तथा पेयजल योजना ग्राम पंचायत को हस्तान्तरित हो जाने के पश्चात उसका ग्राम पंचायत स्तर पर कैसे संचालन किया जायें, रख रखाव किया जाये व उसकी मरम्मत किस प्रकार करायी जाये, मरम्मत में खर्च होने वाले व्यय के धनराशि की व्यवस्था कैसे की जाये इत्यादि बिन्दुओं पर विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी। 

     इस अवसर पर मा0 ब्लाॅक प्रमुख सरोजनीनगर श्रीमती निशा यादव, मण्डल के सभी जनपदों के मुख्य विकास अधिकारी, सहायक निदेशक सूचना, जिला विकास अधिकारी, डी0पी0आर0ओ0, खण्ड विकास अधिकारी, जल निगम के अधिकारी, ग्राम प्रधान व सचिव उपस्थित थे।